क्या “गल सुनाना” चाहते है अखिल सचदेव?

हमसफर के बाद एक और रोमांटिक गीत, आपका दिल छू लेगा

 

गीतकार और संगीतकार अखिल सचदेव की दिल छू लेने वाली आवाज़ ने उनको भारतीय संगीत इंडस्ट्री का एक उभरता सितारा बना दिया है। फिल्म बद्रीनाथ की दुल्हनिया के हमसफर गीत से उन्होंने लोगों के बीच अपनी पहचान बना ली थी। अखिल अपने नए सिंगल ‘गल सुन’ के साथ फिर से लोगों के सामने है। इस सिंगल को रिलीज़ के कुछ ही घंटों में हजारों हिट मिल चुके हैं। रोमांटिक बैलेट का ये गीत कई लोगों को पसंद आ रहा है। आप भी इस गीत का लुत्फ उठाईएं।

अखिल की रोमांटिक आवाज़ से सजे इस गीत को मनोज मुंतशिर और अखिल दोनों ने मिलकर लिखा है। हालांकि ये गीत अखिल ने कई सालों पहले ही तैयार कर लिया था। अखिल कहते हैं, “यह गीत मैंने साढे तीन साल पहले तैयार कर लिया था। यह गीत हमसफर गीत से 4 महीने पहले ही तैयार हो गया था। ये गीत मेरे दिल के ज़्यादा करीब है, लेकिन हमसफर गीत पहले आया। मैं खुश हूं कि आखिर अब यह गीत अब मुझ पर फिल्माया गया है देर से ही सही ये लोगों तक पहुंच रहा है।”

रोमांटिक गीतों को काफी जचती है अखिल की आवाज़

अखिल पर ही फिल्माए गए इस गीत को गीत के ग्रीस के आइलैंड चानिया में शूट किया गया है। इस गीत में अखिल के साथ नजर आएंगी स्नेहा नामानंदी। खास बात है कि शूटिंग के दौरान कुछ सींस को फिल्माते हुए अखिल के हाथों में फ्रैक्चर हो गया था। उन्हें अपने फ्रैक्चर हाथों के साथ ही शूट जारी रखना पड़ा और बाइक भी चलानी पड़ी। गाने के एक दृश्य में भी अखिल के हाथों में फ्रैक्चर को देखा जा सकता है।

अखिल दिल्ली से हैं और बैंड नशा का हिस्सा रह चुके हैं।

टी सीरीज़ के बैनर तले रिलीज हुए इस सिंगल को भूषण कुमार काफी समय से रिलीज़ करना चाह रहे थे ।सुनने में आया है कि पंजाबी में लिखे इस गीत को बॉलीवुड फील देने के लिए इसके बोलों में काफी बदलाव किया गया। भूषण कुमार बताते हैं,” गल सुन मुझे बहुत पसंद है। अखिल का यह दूसरा गाना है, इसकी ख़ासियत यह है कि इस गीत में प्यार, गुस्सा, दर्द और खुशी जैसी कई भावनाएं एक साथ हैं।”

इस गीत में अखिल एक लवर ब्वाय का किरदार कर रहे हैं। इस गीत को मिल रही सफलता से लगता है कि यह भी हमसफर की ही तरह बहुत ही जल्द हिट हो जाएगा। दरअसल हमसफर गीत से बॉलीवुड मे अपने करियर की शुरुआत करने वाले अखिल दिल्ली के एक म्यूज़िक बैंड नशा के साथ जुड़े हुए थे और उनके मुख्य गायक थे। हमसफर की सफलता ने उनकी ज़िंदगी बदल दी। वह अब अपनी गल सुनाने के लिए तैयार है।