करण के नए स्टूडेंटस का शानदार हुआ स्वागत

ऐसी क्या बात है कि करण के स्टूडेंटस फेल नहीं होते?

 

करण जौहर के नए स्टूडेंटस ईशान खट्टर और जान्हवी कपूर लगता है बिना एग्ज़ाम के ही पास हो गए हैं। फिल्म रिलीज़ नहीं हुई और इस फिल्म के ट्रेलर को लगभग 20 मिलियन व्यूज़ मिल चुके हैं। ट्रेलर के लांच होने के 12 घंटे के अंदर ही, यह सबसे ज़्यादा देखे जाने वाला ट्रेलर बन गया। जिसकी खुशी ज़ाहिर करते हुऐ सोशल मीडिया पर जान्हवी और ईशान का यह वीडियो जारी किया गया।

आखिर इस धड़क में ऐसा क्या हैं

‘धड़क’ के पीछे सबसे बड़ा कारण है करण जौहर। जी हां, करण जौहर को एक बहुत अच्छा मेंटर माना जाता हैं। वह अपने बैनर तले बनी फिल्मों का निर्देशन भले ही ना कर रहे हों, लेकिन अपनी फिल्मों में वह पूरी तरह इन्वॉल्व रहते हैं। करण मानते हैं कि राष्ट्रीय पुरस्कार जीत चुकी मराठी फिल्म ‘धड़क’ का रीमेक बनाना आसान नहीं था। हालांकि करण जौहर कहते हैं, “ हमें भी पता है कि हिन्दी फिल्म की उस फिल्म के साथ तुलना ज़रुर होगी, लेकिन मेरा दिल कह रहा था कि इस पर फिल्म बननी चाहिए, इसलिए हमने फिल्म बनाई। फिल्म बहुत ही साधारण और नादान सी प्रेम कहानी थी और इसलिए हमें तलाश थी ऐसे ही दो नए चेहरों की।”

दिमाग की नहीं, दिल की सुनते हैं करण

karan-johar-and-ishaan-khattar-with-jhanvi-kapoor
पहली मुलाकात में ही करण ने ईशान और जान्हवी को फाइनल कर लिया था

फिल्म ‘धड़क’ से ईशान और जान्हवी को लांच करने वाले करण को भरोसा है कि लोग इन दोनों को बेहद पसंद करेंगे। कई नए चेहरों को इंडस्ट्री में लॉन्च करने वाले करण का मानना है कि यह काम इतना आसान नहीं होता। करण कहते हैं “बहुत बड़ी ज़िम्मेदारी होती है किसी को लांच करना। इनको इनके नाम से आगे ले जाना होता है, इनकी नई पहचान बनानी होती हैं। काफी मेहनत करनी पड़ती हैं। यह भले ही बड़े परिवार से आ रहे हो, लेकिन इनको भी मेहनत के साथ काम करना पड़ता है। मीडिया को, कैमरे को और दर्शकों का सामना करना इतना आसान काम नहीं है। इनको भी यह साबित करना होता है कि यहां वह नाम की वजह से नहीं, अपनी मेहनत की वजह से इंडस्ट्री में हैं और इसीलिए हमारी ज़िम्मेदारी भी बढ़ जाती है।”

कैसे हुई कास्टिंग

manish-malhotra-and-sridevi
मनीष मल्होत्रा का श्रीदेवी और उनके परिवार के साथ करीबी रिश्ता है

जहां श्रीदेवी की बेटी जान्हवी कपूर की पहली फिल्म की झलक देखने के लिए काफी समय से लोग इंतजार कर रहे थे, वहीं करण का दावा है कि जान्हवी सिर्फ श्रीदेवी की बेटी होने की वजह से कास्ट नहीं किया गया। श्रीदेवी और उनके परिवार के क़रीबी माने जानेवाले फैशन डिज़ाइनर मनीष मल्होत्रा ने करण जौहर और जान्हवी की मुलाकात कराई थी। करण आज भी उस मुलाकात को याद करते हुए कहते हैं, “मैं जान्हवी से मिलने उनके घर गया था। मैंने उसे कुछ फिल्म के डायलॉग और कविताएं पढ़ने को बोला। मुझे आज भी याद है कि उसे पढ़ते हुऐ जान्हवी की आंखों में फिल्म में काम करने की जो उत्सुकता थी, कैमरे के सामने आने की जो चाहत थी, उसे देख कर मैं समझ गया था कि वह रुपहले पर्दे पर बहुत ही अच्छा काम करेंगी।”

वहीं ईशान का चयन भी उन्होंने अपने दिल पर भरोसा रख कर ही किया। ईशान के इंस्टाग्राम और सोशल मीडिया कुछ वीडियो देख ही करण समझ गए थे कि वह इस फिल्म के लिए बेहतर किरदार हो सकते हैं। ईशान के भाई शाहिद के साथ एक टेलीविजन शो होस्ट कर रहे करण की मुलाकात, एक दिन उसी टीवी सेट पर ही ईशान के साथ हुई। वह बताते हैं “ ईशान एक दिन शाहिद से मिलने सेट पर आया हुआ था। मैंने उसे देखा, उसकी बॉडीलैंग्वेज, उसकी आंखें और उसकी पर्सनालिटी देखकर ही मेरे दिल ने कहा कि इसमें कुछ बात है।”

ज़ाहिर है कि आज करण इंडस्ट्री का बड़ा नाम है और हर कोई उनके साथ काम करना चाहता है। उन्होनें अपने बैनर तले कई सितारों को लांच किया है। आलिया, वरुण और सिद्धार्थ भी करण की पाठशाला के ही स्टूडेंटस रहे हैं। अब ईशान और जान्हवी की बारी है। खास बात है कि वह बहुत ही जल्द चंकी पांडे की बेटी को भी लांच करने वाले हैं।

हालांकि अपनी फिल्मों में काम करने वाले एक्टर के चुनाव को लेकर, एक बात तो करण ने साफ कर ही दी कि वह इस मामले में दिमाग की नहीं दिल की सुनते हैं।