साल 2016 में हुई सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में सिर्फ सुना था, अब देख भी लें।

विक्की की अब तक की सबसे शानदार परफॉर्मेंस है फ़िल्म उरी

 
URI-movie-review-640x480

दो साल पहले साल 2016 में जम्मू कश्मीर के उरी में आतंकवादी हमले में कई जवान शहीद हो गए थे। इस का जवाब भारत ने सर्जिकल स्ट्राइक के माध्यम से दिया था, उस दौरान यह बात सुन कर हर भारतवासी को गर्व महसूस हुआ था। अगर इसी बात को बड़े पर्दे पर देखने का मौका मिले तो सोचिए कितने गर्व की बात होगी। फ़िल्म उरी उसी सर्जिकल स्ट्राइक की कहानी कहती है। फ़िल्म में विक्की कौशल मेजर वियोम शेरगिल के किरदार में हैं, जो फिल्म में इस सर्जिकल स्ट्राइक की आगुवाई कर रहे हैं।

फ़िल्म सच्चाई के कितनी करीब

साल 2016 में हुई सच्ची घटना पर है आधारित

हालांकि फिल्म में कितना सच है और कितना काल्पनिक इस बात को कहना मुश्किल हैं। लेकिन इस बात में कोई दो राय नहीं कि फिल्म आप में देश भक्ति जगाने में ज़रुर कामयाब होगी। फिल्म की शुरुआत उत्तर-पूर्व में हुए आतंकी हमले से होती है। इसके बाद पंजाब और फिर साल 2016 में 18 सितम्बर को जम्मू कश्मीर के उरी सेक्टर में हुए हमले को दिखाया दाता है। उरी स्थित भारतीय सेना के स्थानीय मुख्यालय पर हुए इस हमले में 18 जवान शहीद हुए, उसी की जवाबी कार्यवाही में 11 दिनों बाद यानी 29 सितम्बर को भारतीय सेना की तरफ से सर्जिकल स्ट्राइक कर पाकिस्तान के 7 आतंकी ठिकानों का नामों निशान मिटा दिया गया और 38 आतंकियों को मार गिराया। इस सर्जिकल स्ट्राइक में सेना की अगुवाई करने वाले अफसर का किरदार विक्की ने निभाया है। वियोम का किरदार निभाते विक्की एक अफसर है, जिनकी अगुवाई में भारतीय सेना हमेशा कामयाब रही। कुछ कारणों से वह सीमा पर पोस्टिंग छोड़ दिल्ली स्थित कार्यालय में आ जाते है और बंदूक और बार्डर की जगह, ऑफिस और कलम थाम लेते हैं। उरी के हमले में जब उनका एक बेहद करीबी अपनी जान गंवा देता है , तो वह वापस बंदूक थाम लेने की सोच लेते है और युद्ध के लिए तैयार हो जाते है। उनकी काबिलियत से वाक़िफ़ सेना के अफसर उन्हें सर्जिकल स्ट्राइक का ज़िम्मा दे देते है। कैसे पाकिस्तानी हमले के 11 दिन के भीतर भारत अपना बदला लेता है, वह काफी दिलचस्प है।

कलाकारों का अभिनय

फिल्म के निर्देशक आदित्य धर ने ही फिल्म की कहानी लिखी है

विक्की अपनी हर फिल्म के साथ बेहतर होते जा रहे हैं। आर्मी अफसर के तौर पर उनका अभिनय शानदार है। फिल्म के लिए ली गई फिजिकल ट्रेनिंग के साथ साथ, आर्मी अफसर के तौर पर उनकी बॉडी लैंग्वेज भी काफी रियलिस्टिक है। फिल्म में ढ़ेरों एक्शन है,लेकिन सभी रियलिस्टिक महसूस होते हैं। यह कहना गलत नहीं होगा कि यह फिल्म विक्की की अभी तक की बेस्ट फिल्म है। फिल्म में यामी गौतम एक इंटेलिजेंस अफसर के किरदार में है। फिल्म में उनका बहुत ही कम काम है। फिल्म में रजत कपूर, परेश रावल जैसे कई कलाकार है, जो कई बड़े नेताओं और ब्यूरोक्रेटस के किरदार में है।

फिल्म पर पैसा खर्च करना चाहिए या नहीं

विक्की कौशल ने अभी तक बॉक्स ऑफिस पर बेहतरीन फिल्में दी है

फिल्म की सबसे खास बात यह है कि फिल्म का उद्देश्य है लोगों को साल 2016 की 11 दिनों के अंदर हुई उस घटना को बताना जिस पर हर भारतवासी को गर्व है। जब जब भारत और पाकिस्तान के बीच मैच या फिर युद्ध की बात हो, यह विषय ही लोगों को लुभा जाता है। इतने बड़े ऑपरेशन में भारत की जीत किसी भी दर्शक को फिल्म के आखिर में तालियां बजाने के लिए मजबूर ज़रुर कर देगी। फिल्म को रियलिटी के करीब रखने के लिए छोटी छोटी चीज़ो पर भी ध्यान दिया गया है। जैसे कि फिल्म में परेश रावल का किरदार जब भी देश से जुड़ी कोई भी महत्वपूर्ण सूचना फोन से देता या लेता है, तो तुरंत फोन तोड़ देता है और नए फोन को इस्तेमाल के लिए निकालता है, फोन रिकार्ड से बचने के लिए इस तरह की छोटी छोटी डिटेल को शामिल किया गया है। आदित्य धर लिखित और निर्देशित इस फिल्म में हालांकि कुछ ऐसी चीज़े ज़रुर है कि जिस पर विश्वास करना मुश्किल हो, लेकिन सर्जिकल स्ट्राइक जैसे देश की सुरक्षा से जुड़े मुद्दे पर एक बैलेंस तरीके से जितना दिखाया और बताया जाना था, उसे दिखाने में आदित्य सफल ज़रुर हुए है। फिल्म के डायलॉग इस फिल्म की जान है। फिल्म के ट्रेलर लांच के साथ ही मशहूर हुए डायलॉग “अब हिंदोस्तान बदल चुका है, ये नया हिंदोस्तान है, घर में घुसेगा भी और मारेगा भी” के साथ साथ फिल्म में कई ऐसे पल और डायलॉग है जो आपको पसंद आएंगे।

हालांकि इस साल होने वाले चुनावों के चलते इस फिल्म का फायदा सरकार को होगा ऐसी कई अटकलें ज़रुर लगाई जा रही है, लेकिन एक बात साफ है कि आम जनता जिस फिल्म पर पैसा खर्च करती है, उस फिल्म से मनोरंजन की उम्मीद ज़रुर करती है। इस फिल्म में आम लव स्टोरी से हटकर देश के लिए प्यार देखने को मिलेगा। दरअसल देशभक्ति से जुड़ी कोई भी फिल्म अगर आपको भारतीय होने का गर्व करा दे, आप में देशभक्ति जगा दे, तो वह फिल्म सफल मानी जा सकती है। इन सभी पैमाने पर यह फिल्म खरी उतरती है।

हॉट फ्राइडे टॉक्स इस फिल्म को 3 स्टार देता है।