बियर पीने से इंगलिश बोलने में मिलती है मदद, हुआ खुलासा

क्यों शराब पीते ही इंग्लिश बोलने लगते हैं लोग?

 

आज की जीवनशैली के मुताबिक हम सोशलाइज़ करने में विश्वास रखते हैं और सोशलाइज़ करते वक्त शराब पीना हमारी जीवन शैली में अपनाया गया है। अल्कोहल पीने वाले लोगों का प्रदर्शन अल्कोहल ना पीने वाले लोगों के प्रदर्शन के मुकाबले में ज्यादा अच्छा होता है। उनके विदेशी भाषा बोलने का प्रभाव, शराब ना पीने वालों की तुलना में ज्यादा अच्छा होता है।

एक्सपेरिमेंट में हुआ खुलासा

drinking-beer-slows-down-alzheimers-parkinsons-disease
इस एक्सपेरिमेंट में लोगों की बातचीत को रिकॉर्ड किया गया

2 डच विशेषज्ञों ने साथ मिल कर एक एक्सपेरिमेंट किया, जिसमें यह बात सामने आई कि शराब पीने से हम लोगों से खुलकर बात कर सकते हैं। इस एक्सपेरिमेंट में लोगों की बातचीत को रिकॉर्ड किया गया और बाद में इसका मूल्यांकन किया गया।

इस एक्सपेरिमेंट से लोगों के सामने यह बात आई कि शराब पीने के बाद लोग आसानी से और बिना किसी हिचकिचाहट के विदेशी भाषा बोल रहे थे। और तो और बोलने में भाषा प्रवाह बिना किसी रूकावट के हो रहा था। वहीं जिन लोगों ने शराब नहीं पी थी, वह लोग हिचकिचा कर और अप्रवाहित तरीके से भाषा का प्रयोग कर रहे थे। इस रिसर्च से यह बात सामने आई कि शराब पीने के बाद लोग विदेशी भाषा अच्छी तरह से बोल पाते हैं।

 

While lager beer might not be that harmful for our body, Beer in general is not that healthy
बियर के सेवन से किडनी स्टोन से निपटने में मदद मिलती है।

कुछ लोग मानते हैं कि शराब पीना नुकसानदायक होता है, जबकि सच यह है कि अगर थोड़ी मात्रा में इसका सेवन किया जाए तो यह फायदेमंद होता है। नियमित मात्रा में शराब, खास तौर पर बियर के सेवन से किडनी स्टोन से निपटने में मदद मिलती है।

इसका मतलब ये है कि तो अगली बार शराब पीकर किसी व्यक्ति के सामने इंप्रेशन जमाना हो तो आपको आसानी होगी।