सफ़ेद या ब्राउन? कैसे अंडे होंगे फ़ायदेमंद?

क्या सफ़ेद अंडों के बजाय ब्राउन अंडे आपको ताकत देते हैं?

 

यदि किसी से पूछा जाए कि किस तरह के अंडे खाने में लाभदायक होते हैं, तो तुरंत जवाब मिलता है भूरे रंग के, जिसे देसी अंडे भी कहा जाता है। लेकिन क्या यह वास्तव में सच है? अक्सर कहा जाता है कि ब्राउन अंडे पौष्टिकता में सफेद अंडों की तुलना में ज़्यादा बेहतर होते हैं। आइए जानते हैं कि ब्राउन अंडे और सफेद अंडे किस तरह एक दूसरे से अलग है?

रंगों में असमानता: ब्राउन अंडे का रंग जेनेटिक्स द्वारा निर्धारित होता है।हालांकि पर्यावरण, आहार और मुर्गियों में तनाव के स्तर जैसी चीज़ें भी इसके ऊपरी रंग को प्रभावित कर सकती हैं।

क्या है ब्राउन अंडों का सच: अधिकांश लोग सफेद रंग के बजाय भूरे रंग के अंडे खाना पसंद करते हैं। ऐसा कहा जाता है कि ब्राउन अधिक प्राकृतिक होते हैं। हालांकि यह सच नहीं है। एक अध्ययन में पता चला है कि सभी अंडे रंग और आकार के बावजूद पौष्टिक रूप में समान होते हैं। सभी अंडों में लगभग उसी मात्रा में विटामिन, आयरन, प्रोटीन होता है। अंडे का रंग उसकी गुणवत्ता और बनावट में कोई प्रभाव नहीं डालता।

सभी अंडों में लगभग उसी मात्रा में विटामिन, आयरन, प्रोटीन होता है

 

कैसे चुने पौष्टिक अंडे?: पर्यावरण और मुर्गियों का आहार अंडे के पोषण को प्रभावित करता है। हमेशा सूरज के संपर्क में रहने वाली मुर्गी या जिन्हें ओमेगा 3 फैटी एसिड खिलाया जाता है और जिनमें विटामिन डी की मात्रा अधिक होती है, ऐसी मुर्गियों के अंडे खाना लाभदायक होगा। उन मुर्गियों के अंडे उतने हेल्दी नहीं होते, जो बंद कमरे में रहती हैं और जिन्हे ओमेगा 3 फैटी एसिड नहीं खिलाया जाता।

क्या ब्राउन रंग के अंडे होते हैं स्वादिष्ट: पोषक तत्वों की तरह अंडे के रंग के आधार पर भी इसके स्वाद में कोई महत्वपूर्ण अंतर नहीं होता। हालांकि मुर्गियों का आहार और अंडे की ताज़गी से इसका स्वाद प्रभावित होता है। इसीलिए अंडे के स्वाद और पोषक तत्व को संरक्षित रखने के लिए अंडों को कम तापमान में और ठंडा रखा जाता है।

यदि आप भी इन सभी बातों से सहमत हैं, तो अगली बार अंडे लेने से पहले रंग की बजाय इस बात पर ध्यान दें कि वे किस तरह के मुर्गी के अंडे हैं। इससे आपको ज्यादा फायदा होगा।