वीडियो: क्या आपने कभी पी है फूलों से बनी फ़्लोरा टी?

ऐसी स्वादिष्ट चाय आपने पहले कभी नहीं पी होगी

 

गरमा-गरम चाय की हर बात निराली है। अगर सुबह उठने के बाद एक प्याली अच्छी चाय मिल जाए, तो दिन भर मूड फ्रेश रहता है। चाय भारत में पिया जाने वाला सबसे खास पेय है, जिसे लोगों के सत्कार के लिए इस्तेमाल किया जाता है। रोज़मर्रा की जिंदगी में अहम किरदार निभाने वाली चाय के बारे में आज हम आपको ऐसी बातें बताने जा रहे हैं, जो आपको किसी ने नहीं बताई होंगी। आज हम बात करेंगे फ्लोरल चाय के बारे में, जिसके जुड़ी ये बातें आपको किसी ने नहीं बताई होगी।

क्या है फ़्लोरा टी?

अब मार्केट में एक नयी चाय की पहल हो चुकी है। इसे फ्लोरा टी इसीलिए नाम दिया गया है, क्योंकि यह फूलों से तैयार होती है।इसे बनाने के लिए एक खास तरह के टी बैग्स का इस्तेमाल किया जाता है, जिसे पानी में डालते ही चाय के में फूल खिल जाता है। इसे बनाने की शुरुआत लंदन की जानी मानी कंपनी ने की है। कहा जाता है कि यह पीने में बेहद स्वादिष्ट होती हैं। देखिए किस तरह यह टी बैग्स से खूबसूरत फूलों में तब्दील होकर चाय का रुप ले लेता है।

कई वैराइटियों में है हाज़िर

कंपनी इस टी के लिए खास तरह के टी बैग्स तैयार करती है। हर साल यह 5 लाख से ज़्यादा टी बैग्स बनाकर पूरी दुनिया में बेचती है। कई तरह के फूलों से ये बनाई जाती है और कई वैरायटी में ये उपलब्ध होती है, इसमें गुलाब, सूरजमुखी, मेरीगोल्ड, जैस्मिन इत्यादि मौजूद हैं।

कैसे बनाई जाती है ये चाय?

हर साल यह 5 लाख से ज़्यादा टी बैग्स बनाकर पूरी दुनिया में बेचती है

इस चाय को बनाने के लिए आपको एक ग्लास में टी बैग्स डालने की ज़रुरत होती है। इसके बाद गर्म पानी डालने पर ये टी बैग्स फूलों में तब्दील हो जाते हैं। फूलों के पूरी तरह खिलने के बाद इसे पिया जाता है।

ख़ास बातें

चाय पीने के बाद बचे हुए फूल का इस्तेमाल घर के सुंदरता को निखारने के लिए किया जा सकता है।

इस चाय की खास बात यह है कि चाय पीने के बाद बचे हुए फूल का इस्तेमाल घर के सुंदरता को निखारने के लिए किया जा सकता है।

कंपनी के अनुसार यह चाय पूरी तरह से इकोफ्रेंडली है। पानी में फूल को खिलते देखना भी अपने आप में एक सुंदर अनुभव हो सकता है। इसे आसानी से कहीं भी बनाया जा सकता है। यदि आप भी ग्रीन टी पीना पसंद करते हैं, तो आपके लिए यह एक अच्छा ऑप्शन है।