पैक्ड जूस से बनाएं दूरी, क्यों? जानिए

पैक्ड जूस पीने से होंगे ये नुक्सान

 

पहले की अपेक्षा आज कल की लाइफस्टाइल मॉर्डन हो चली है। लोग हेल्थ पर ध्यान तो देते हैं, पर ऑर्गेनिक तरीके से नहीं, बल्कि दिखावे वाले ब्रैंड्स के प्रोडक्ट इस्तेमाल करके। इस तरह हम सोचते हैं कि हमने जीने का हेल्दी रास्ता अपना लिया है, जबकि हम उन्ही हानिकारक तत्वों का सेवन करके अपनी सेहत बिगाड़ते हैं। इसका सबसे बेहतर उदाहरण है पैक्ड फ्रूट जूस। अक्सर लोगों को सुबह के ब्रेकफास्ट के साथ ऐसे ही पैक्ड फ्रूट जूस पीने की आदत हो जाती है, जो आखिरकार हमारी सेहत को दोगुना नुकसान पहुंचाते हैं। आज हम आपको इन्ही पैक्ड फ्रूट जुसेस के नुकसान के बारे में कुछ बातें बतांएगे।

नहीं मिलता फाइबर

anar-ka-juice-with-soda
न फलों में सॉर्बिटोल जैसे शुगर तत्व मौजूद होते हैं

जैसा कि हम सभी जानते हैं फलों का रस सभी गुणों और फायदेमंद तत्वों से भरपूर होता है, लेकिन जब हम पैक्ड जूस को फलों के रस को पीते हैं तो यह हमारे लिए हानिकारक हो सकता है। पैक्ड जूस में 100% फ्रूट जूस नहीं होता, बल्कि इसमें से फलों की कई खूबियां और तत्व गायब हो जाते हैं। इनमें से एक ज़रूरी तत्व है फाइबर। पैक्ड जूस बनाते वक्त इन फलों के रस को उबाला जाता है, जिससे बैक्टीरिया खत्म हो जाए। लेकिन यही वजह है कि फलों के रस में से विटामिन और ज़रूरी फायदेमंद तत्व भी खत्म हो जाते हैं। साथ ही फलों में पाए जाने वाला गुदा, जो फाइबर का एक अच्छा स्त्रोत होता है, यह भी निकाल दिया जाता है।

मोटापे में बढ़ोतरी

फ्रूट जूस में ज़रूरत से ज्यादा प्रोसेस्ड शुगर होती है, जिसकी वजह से आपका मोटापा बढ़ता है। इसमें पाई जाने वाली चीनी की वजह से कैलरी बढ़ती है और इसीलिए ऐसे जूस को पीने से वज़न कम होने की अपेक्षा बढ़ता है। वहीं दूसरी और प्राकृतिक फल और सब्जियों की तुलना में पैक्ड फ्रूट जूस लेने से आपका वजन 10 गुना ज़्यादा तेज़ी से बढ़ सकता है।

कलर पहुंचाए हानि

Carrot or orange juice
पैक्ड जूस बनाते वक्त इन फलों के रस को उबाला जाता है

आपको जानकर हैरानी होगी कि इन प्राकृतिक फलों के ठीक उलट इन पैक्ड फ्रूट जूस में आर्टिफिशियल कलर का इस्तेमाल किया जाता है, जिससे वह देखने में खूबसूरत लगे और कंपनियों के प्रोडक्ट आसानी से बिक जाए। लेकिन यह बाज़ारू रंग आपके सेहत के लिए नुकसानदेह साबित होते हैं। साथ ही इससे आपको कई बीमारियां हो सकती हैं। जिसमें सबसे कॉमन है पेट की समस्या। इन फलों में सॉर्बिटोल जैसे शुगर तत्व मौजूद होते हैं, जो पेट में जाकर आसानी से पचते नहीं, इसी वजह से इस तरह के पैक्ड जूस पीने से आपको पेट की समस्या हो सकती हैं। इससे आपको गैस, डायरिया और एसिडिटी की समस्या भी हो सकती हैं।

डायबिटीज़ में ना करें सेवन

डायबिटीज़ के मरीजों को खास तौर पर इन जूसेस से दूरी बनानी चाहिए। यह जूस रिफाइंड शुगर में बनाए जाते हैं, जो डायबिटिक लोगों के लिए जहर से कम नहीं है। हालांकि इनके कवर पर शुगर फ्री लिखा होता है, तब भी इसका सेवन करना आपके लिए नुकसानदेह हो सकता है।आपको जानना चाहिए कि पैक्ड जूस में फलों के छिलके के तत्व नहीं होते इसीलिए आप प्राकृतिक फाइबर से वंचित रह जाते हैं। जिस तरह फल और सब्जियां ताजी खाने से शरीर को इन्हें पचाने में आसानी होती है, वहीं दूसरी ओर पैक्ड जूस आपको कई तरह का नुकसान पहुंचाता है।

यदि आप भी अपनी सेहत का अच्छी तरह ख्याल रखना चाहते हैं, तो फ्रूट जूस से दूरी बनाना आपके लिए फ़ायदेमंद होगा।