दोपहर में सोने से कम होंगी दिल की बीमारी

क्यों दोपहर में सोना आपके लिए फायदेमंद है!

 
Foods That Help You Sleep Better
लोग अक्सर कन्फ्यूज़न में रहते हैं कि दोपहर को सोना अच्छा होता है या बुरा। कई लोगों को दोपहर में सोने की आदत होती है, वहीं कोई इस से परहेज करते हैं। कई लोग चाहते हैं कि उनका काम रूटीन में रहे, जिससे दोपहर में सोने की जरूरत ना पड़े। क्योंकि दोपहर के खाने के बाद लोगों को आलस आने लगता है, जिसके वजह से वह नींद को भगाने के उपाय करते हैं।
लेकिन यदि हम वैज्ञानिकों की माने तो दोपहर को सोना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। यूनिवर्सिटी ऑफ पेंसिलवेनिया में हुई एक रिसर्च के मुताबिक दोपहर की नींद सिर्फ आपके आलस को ही दूर नहीं करती, बल्कि आपके ओवरल परफॉर्मेंस को भी बेहतर बनाती है। दोपहर की नींद लेने से इम्युनिटी बढ़ती है और दिल की बीमारी का खतरा दूर होता है।
sleeping
रिसर्चर्स की माने तो वर्कआउट के तुरंत बाद सोने का आइडिया अच्छा नहीं माना जाता
दोपहर में ली गई 15 से 30 मिनट की झपकी आपको मानसिक रूप से फायदा पहुंचाती हैं। यदि आप ज्यादा थके हुए हो तो आपको 90 मिनट की नींद लेने की सलाह दी जाती है। रिसर्चर्स की माने तो वर्कआउट के तुरंत बाद सोने का आइडिया अच्छा नहीं माना जाता। वर्कआउट करने के बाद दिमाग तेजी से काम करता है, ऐसे में नींद आने में परेशानी होती है। वर्कआउट के कम से कम 2 घंटे बाद आपको सोना चाहिए।
मुंबई के फेमस साइकोलॉजिस्ट डॉ सतीश की मानें तो कुछ लोगों के लिए दिन में थोड़ा आराम करना भी अच्छा होता है, लेकिन वहीं कुछ लोगों को इसकी ज़रुरत नहीं होती। खास तौर पर विद्यार्थियों को, जो लगातार कई घंटों तक पढ़ते हैं उन्हें आराम के लिए थोड़ी देर दिन में सोना फायदेमंद होता है। बुजुर्गों के लिए भी शरीर और मस्तिष्क को आराम देने के लिए दिन में सोना बेहतर है। इसके अलावा तनाव और डिप्रेशन से लड़ रहे मरीज़ों को भी दिन में सोने की सलाह दी जाती है।
Try to get sufficient sleep even when you are travelling
जो लोग कड़ी शारीरिक मेहनत करते हैं, उनके शरीर को आराम के लिए भी दिन में सोना अच्छा होता है।
जिन लोगों को ज़्यादा गुस्सा आने की शिकायत होती है, उन्हें दिन में सोने की सलाह दी जाती है। जो लोग कड़ी शारीरिक मेहनत करते हैं, उनके शरीर को आराम के लिए भी दिन में सोना अच्छा होता है।
ध्यान रहे कि अगर दोपहर में सोने की जरूरत महसूस नहीं होती, तो ना सोए। हर किसी को इसका फायदा नहीं होता। इसीलिए शरीर की जरूरत के अनुसार आपको दोपहर की नींद लेनी चाहिए।