कार या बस की यात्रा के दौरान आती है उल्टी? तो करें ये उपाय

ट्रेवलिंग में क्यों आती है उल्टी, जानिये!

 

अक्सर लोग ट्रेवलिंग पर जाने से इसलिए कतराते हैं, क्योंकि उन्हें सफर के दौरान उल्टी आना और सिर दर्द जैसी शिकायत होती है। जिसकी वजह से वे अपने दोस्तों के साथ या परिवार के साथ बाहर घूमना नज़रअंदाज़ करने लगते हैं। यह मोशन सिकनेस की समस्या अक्सर लोगों को शर्मिंदा कर देती है। यही वजह है कि लोग या तो बस या कार से जाना छोड़ देते हैं, या फिर मेडिकेशन का इस्तेमाल करते हैं। यदि आप भी इस समस्या से परेशान हैं तो आज हम आपके लिए लेकर आए हैं कुछ खास नुस्खे, जो मोशन सिकनेस को मिनटों में दूर कर सकते हैं।

खाली पेट सफर ना करें: अक्सर लोग बिना कुछ खाए सफर पर निकल पड़ते हैं, जिससे उन्हें तकलीफ का सामना करना पड़ता है। सफर पर निकलने से पहले आपको खाली पेट नहीं रहना है, ना ही बहुत ज़्यादा खाना है। फैट से भरा हुआ और मिर्च मसाले वाला खाना आपको नहीं खाना चाहिए। ऐसा करने से खाना पचने में समय लगता है, जिसकी वजह से सफर में आपको परेशानी हो सकती है।

मोशन सिकनेस की समस्या काफी हद तक कम हो सकती हैं

आगे की सीट पर बैठे: अगर आप सफर कर रहे हैं, तो कोशिश करें कि कार के आगे वाली सीट पर बैठे। ऐसा करने से आपको गाड़ी में उछाल का सामना नहीं करना पड़ेगा, जिससे मोशन सिकनेस की समस्या काफी हद तक कम हो सकती हैं।

मोबाइल का इस्तेमाल: अक्सर लोग मोबाइल और किताब पढ़ने जैसा काम सफर के दौरान करते हैं। लेकिन ऐसा करने से बचें, क्योंकि काफी देर तक किताब पढ़ने या मोबाइल पर काम करने से चक्कर आते हैं और मोशन सिकनेस की समस्या हो सकती है।

अदरक: डॉ. सुप्रिया पाठक की माने तो सफर के दौरान मुंह में अदरक का छोटा टुकड़ा या टॉफी रखने से आपको आराम मिल सकता है। इसके अलावा यदि सफर में आपको घबराहट हो रही हो, तो अदरक वाली चाय भी पी सकते हैं।

आप चाहे तो मिंट वाली चाय भी पी सकते हैं।

पुदीना: सुप्रिया कहती हैं कि अपने रुमाल में पुदीने के तेल या कहें मिंट ऑयल की कुछ बूंदें रुमाल में डाल लें और इसे सूंघते रहें। ऐसा करने से मोशन सिकनेस से आप दूरी बनाए रखेंगे और आपको उल्टी की समस्या नहीं होगी। आप चाहे तो मिंट वाली चाय भी पी सकते हैं।

यदि अगली बार सफर से डरने के बजाए इन तरीकों को अपनाकर सफर का मज़ा लेने की कोशिश ज़रूर करें।