ये है बीपी से जुड़े कुछ मिथ

है बीपी के हैं शिकार, तो ये खबर ज़रूर पढ़ें

 
food-items-to-avoid-if-you-have-high-blood-pressure-640x480

हमारे देश में हाई ब्लड प्रेशर के मरीज़ की तादाद बहुत ज़्यादा है। आज यह समस्या यंग जनरेशन को भी अपनी गिरफ्त में ले रही है। बदलती लाइफस्टाइल के पीछे ब्लड प्रेशर की समस्या लोगों में दिन पर दिन बढ़ती जा रही है, लेकिन इससे जुड़े कुछ मिथ है, जिसके बारे में आपको ज़रूर पढ़ना चाहिए।

अच्छा महसूस हो रहा है तो ब्लड प्रेशर की समस्या नहीं होती


हाई बीपी को आप महसूस नहीं कर सकते। जबकि यह धीरे-धीरे आपके शरीर के अंगों को नुकसान पहुंचा रहा होता है। जब बीपी बहुत ज़्यादा बढ़ जाती है तब यह समस्या पूरी तरह से सामने आती है।

ओल्ड एज में होती है हाई बीपी की शिकायत


हकीकत यह है कि सिर्फ बुजुर्गों तक ही हाई बीपी की समस्या सीमित नहीं है। यंग जनरेशन भी अब हाई बीपी से ग्रसित होने लगी है। उनके खान-पान से लेकर हेल्थ पर ध्यान देने का समय किसी के पास नहीं। जिससे ब्लड प्रेशर प्रभावित होता है।

बीपी कंट्रोल होने पर दवाई लेने की ज़रूरत नहीं


ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में करने के लिए लोग दवाइयां देते हैं। कई बार देखा जाता है कि बीपी सामान्य होते ही लोग दवाई लेना छोड़ देते हैं। लेकिन यह भूल जाते हैं कि पूरी जिंदगी आपको आपके ब्लड प्रेशर पर ध्यान रखने की जरूरत पड़ती है। इसीलिए खुद से दवाई छोड़ने का निर्णय न लेने की सलाह दी जाती है।

ब्लड प्रेशर में उतार-चढ़ाव नॉर्मल है


बीपी में ज़्यादा उतार-चढ़ाव खतरे की घंटी साबित हो सकती है। यह किसी भी नॉर्मल इंसान को हो सकता है और यह सामान्य बात नहीं है। अगर आप इसे इग्नोर करते हैं, तो आपको एहसास भी नहीं होगा कि आप अपने शरीर को कितने बड़े खतरे में डाल रहे हैं।

रोज व्यायाम करने और हेल्दी डाइट से नहीं होता बीपी


हाई बीपी के लिए आपकी लाइफ स्टाइल काफी हद तक जिम्मेदार होती है, लेकिन यह मानना गलत है कि हेल्दी लाइफस्टाइल जीने से आपको ब्लड प्रेशर की समस्या नहीं हो सकती। ब्लड प्रेशर के लिए कई बार आपके जीन भी जिम्मेदार होते हैं। इसीलिए इसमें एतिहात बरतना आपके लिए बेहद जरूरी है।