वीडियो: पटाखों से परेशान आपके पालतू जानवरों का ऐसे रखें ख़याल

दीपावली में पटाखों की आवाज़ से परेशान होते हैं पैट्स

 

दीयों की रोशनी, मिठाइयों की मिठास और लोगों से के साथ मिलकर हंसी खुशी बांटने का त्योहार दीपावली आखिरकार आ चुका है। लंबे इंतजार के बाद अब लोग खुलकर खुशी मनाएंगे। दीपावली का त्यौहार जहां एक और हम लोगों के लिए हंसी खुशी का दिन होता है, वहीं दूसरी ओर हमारे पालतू जानवर या कहे पेट्स जैसे कुत्ते, बिल्ली के लिए गंभीर समस्या लेकर आता है। जैसा की सभी जानते हैं ज्यादातर घरेलू जानवरों को पटाखों से होने वाले शोर और पॉल्यूशन से बेहद तकलीफ होती है। इस दौरान ये पालतू जानवर बेहद असहज महसूस हो जाते है। हर साल की तरह इस साल भी पैट ओनर्स ने अपने छोटे साथियों के लिए ऐसे कई इंतजाम किये हैं, जिससे दिवाली के दौरान इन पालतू जानवरों को समस्या का सामना ना करना पड़े। यदि आप भी घर में पालतू जानवर रखते हैं, तो आपको इन तरीकों को अपनाना चाहिए।

घर को करें पैट्स के लिए सिक्योर

पेट्स अक्सर पटाखों की आवाज़ से डरते हैं, इसलिए उन्हें पटाखों के आसपास ना आने दें। उन्हें घर के अंदर रखें और पटाखों की आवाज़ के दौरान उनके साथ रहें। पटाखों की आवाज़ और पल्यूशन से अपने पेट्स को बचाने के लिए घर की खिड़कियां, दरवाजे बंद रखें, साथ ही परदों से दरवाजों और खिड़कियों को बंद कर दें, जिससे तेज़ रोशनी और आवाज़ में कमी आ जाए।

घरेलू जानवरों को पटाखों से होने वाले शोर और पॉल्यूशन से बेहद तकलीफ होती है

पटाखों से रखें दूर

पटाखों से निकलने वाला धुआं और पल्यूशन पैट्स के लिए बेहद हानिकारक हो सकता है, इसीलिए कोशिश करें कि यह धुंआ आपके घर में ना आए। पटाखों को जलाने के बाद जले हुए पटाखों की राख हटा दें, कई बार पटाखों की बारूद पर जब ये पैट्स चलते हैं और बाद में खुद को ग्रूम करते हैं, तो वे यह हानिकारक बारूद निगल लेते हैं, जिससे उनकी तबीयत बेहद खराब हो सकती हैं।

कई बार पटाखों की आवाज़ की वजह से पैट्स को एनज़ाइटी हो सकती हैं

पशु चिकित्सक से लें सलाह

दिवाली के तीन-चार दिन पहले अपने पेट को पशु चिकित्सक के पास ज़रूर ले जाएं, ताकि वे आपके पालतू जानवर के हिसाब से कुछ सुझाव दें। यह आपके पेट के लिए बेहद फायदेमंद हो सकता है। अगर दिवाली के बाद भी आपका पालतू जानवर असहज होता है और कुछ खाता नहीं, तो उसे डॉक्टर के पास ज़रूर ले जाएं और ज़रूरत हो तो दवाइयों की मदद लें। कई बार पटाखों की आवाज़ की वजह से पैट्स को एनज़ाइटी हो सकती हैं, इसीलिए डॉक्टर की मदद से इस तकलीफ को जल्द से जल्द ठीक करना जरूरी होता है। यदि ऐसा ना किया जाए तो आपके पालतू जानवर की सेहत खराब हो सकती है और भी लंबे समय तक वह बीमार रह सकता है।

यदि आप भी अपने पैट्स से बेहद लगाव रखते हैं और उनकी अच्छी सेहत की कामना करते हैं तो इन सुझावों को जरूर ध्यान में रखें।