अगर शराब ज़्यादा हो रही है तो ये करके देखिये

इससे आप अपने पीने की मात्रा को कम कर सकते हैं, बिना नुक्सान के

 
P-b5473645-55f2-40ea-8f7f-e4b29b4b9ec2

दोस्तों के साथ मिलकर थोड़ी शराब पीना तो शायद हर किसी को ही अच्छा लगता है। इससे आप पूरे हफ्ते की थकान और स्ट्रेस भूल जाते हैं और आने वाले हफ्ते में फिर से काम करने के लिए तैयार हो जाते हैं।
देखा जाये तो इसमें कोई गलत बात नहीं है। पर हां, अगर ये पीना हद से ज़्यादा होने लगे, जहां आप को हमेशा पीने का मन करता है, या आप एक बार पीना शुरू करते हैं तो खुद को रोक नहीं पाते हैं, या एक बार में बहुत पी लेते हैं, तो ये आपके सेहत के लिए खतरनाक साबित हो सकता है।

कैसे आएगा समझ अगर आप ज़्यादा पी रहे हैं तो?
अगर आप २ घंटे के भीतर ४ से ५ ड्रिंक ले लेते हैं, तो इसका मतलब है कि आप ज़रुरत से ज़्यादा ही पी रहे हैं। लेकिन ये ज़रूरी नहीं कि आप हर रोज़ इतना ही पीते हों। हो सकता है कि आप हफ्ते में ३-४ दिन ऐसे पीते हैं, पर फिर भी, ये आपके सेहत के लिए उतनी ही हानिकारक हो सकती है।

जब ऐसा होता है, तब आपको पीना बंद करने में दिक्कत महसूस हो सकती है, या अगर आप नहीं पी पा रहे हैं, तो आपको बहुत ज़्यादा गुस्सा या दुख भी महसूस हो सकता है।

कैसे खुद को रोक सकते हैं?
आज कल ऐसे कई तरीक़े हैं, ख़ास कर मानसिक इलाज के ज़रिये, जिनकी मदद से आप खुद को ऐसा करने से रोक सकते हैं।

dr.sanyal-500x360
थेरपी से आप पीने की चाह को कम कर सकते हैं

डॉ. विहान सान्याल मानसिक सेहत के क्षेत्र में काम करते हैं और वो १२ साल से ऊपर से सफलतापूर्वक ऐसी स्तिथियों को सुधारने में मदद कर रहे हैं। उनके अनुसार, मानसिक चिकित्सा में ऐसे कई तरीके हैं जिनके माध्यम से आपके पीने की चाह को कम किया जा सकता है, और आपको इससे कोई परेशानी भी नहीं होगी। वक़्त के साथ, अगर आपने चिकित्सा जारी रखा, तो आप कम पीने लगेंगे, और ये भी हो सकता है कि आप पूरी तरह से पीना ही छोड़ दें।

अगर थेरपी से काम नहीं बना तो?

वैसे तो थेरपी से काम हो जाता है, पर अगर किसी वजह से ऐसा लगा कि अभी भी कुछ मुश्किलें हैं, तो आपके डॉक्टर थेरपी के साथ दवाइयों का प्रयोग भी कर सकते हैं। डॉ. सान्याल के अनुसार इन दवाइयों के सेवन से आपको पीने की चाह भी कम महसूस हो सकती है।

अगर आपको ऐसा लगता है कि आप या आपके कोई करीबी इस परेशानी से शिकार हैं, तो डॉक्टर से बात करके जल्द ही इलाज कर सकते हैं।