क्या आपने कभी की है बाम्बू राफ्टिंग?

राफ्टिंग का मज़ा तो ऐसे ही आएगा

 
Bamboo-rafting-640x480

अक्सर लोगों को नदी की तेज़ धार के बीच राफ्टिंग करने का मज़ा आता है। अब तक भारत में ऋषिकेश को ही लोग राफ्टिंग के लिए चुनते आए थे, लेकिन भारत में एक जगह ऐसी और है जहां जाकर आप राफ्टिंग के एक्सपीरियंस को एक अलग अंदाज़ में महसूस कर सकेंगे। हरे भरे जंगलों के बीच बहती नदी में बैंबू से बने राफ्ट पर राफ्टिंग करने का एक अलग ही मज़ा है, जिसका एक्सपीरियंस लेने के लिए आपको पेरियार टाइगर रिज़र्व आना पड़ेगा।

बैंबू राफ्टिंग नेचर वॉक का ही हिस्सा है। इसमें बांस से बनी नाव से नदी में घूमने का मौका मिलता है। इस टाइगर रिज़र्व में राफ्टिंग की शुरुआत सुबह आठ बजे से ही हो जाती है। सुबह-सुबह प्रकृति के खूबसूरत नज़ारों को देखते हुए और फोटोग्राफी के लिहाज़ से यह समय राफ्टिंग के लिए काफी अच्छा माना जाता है। राफ्टिंग तक पहुंचने के लिए आपको घने जंगलों में थोड़ी दूर के लिए ट्रैक करना होगा। यह ट्रैकिंग आपको प्रकृति की खूबसूरती का एहसास दिला कर जाएगी।

3 घंटे की बैंबू राफ्टिंग एक अनोखा एडवेंचर आपके लिए साबित हो सकता है। खूबसूरत नज़ारों के बीच पक्षियों की चहचहाहट और नदी के बहाव में घूमने का मज़ा आपको यहीं आ सकता है। यदि आप यहां आना चाहते हैं तो कैमरा ज़रूर लेकर आए, क्योंकि यहां की खूबसूरती को बयां करने के लिए फ़ोनोग्राफ़ ही काफी है।

बैंबू राफ्टिंग के नियम

bamboo-rafting-wayanad-kerala-640x480

एक बंबू राइड में लगभग 3 टूरिस्ट, एक आर्म्ड फॉरेस्ट गार्ड, 4 गाइड होते हैं। इसमें ज्यादातर गाइड ट्राइबल कम्युनिटी से आते हैं, जो जंगल के आसपास की चीजों के बारे में बखूबी जानते हैं। आप इन लोगों से कई जानकारियां हासिल कर सकते हैं। इसीलिए सरकार द्वारा शुरू किए गए ईको डेवलपमेंट प्रोजेक्ट का भी हिस्सा इन्हें बनाया गया है।

ब्रेकफास्ट भी है शामिल

CHUKKA-Bamboo-Rafting-500x360

राफ्टिंग के दौरान टूरिस्ट को ब्रेकफास्ट भी सर्व किया जाता है। ब्रेड, जैम, फ्रूट, चाय, स्नैक्स के अलावा लंच की भी सुविधा मिलती है। राफ्टिंग के अंत में आप पहुंचते हैं पेरियार टाइगर रिज़र्व के कैचमेंट एरिया में। यहां चाहे तो आप रूम ले कर रुक सकते हैं।

कैसे पहुंचे?

कोट्टायम यहां से सबसे नज़दीकी रेलवे स्टेशन है, जो टेकड़ी से 114 किलोमीटर दूर है। आप चाहे तो हवाई मार्ग से भी यहां पहुंच सकते हैं। मदुरई एयरपोर्ट यहां से 136 किलोमीटर की दूरी पर है।