इस आयलैंड पर पैर रखना है मना, सरकार ने लगाया है बैन

इस आयलैंड पर आप दिन के उजाले में भी जाना पसंद नहीं करेंगे

 
आपने दुनिया के कई आयलैंड के बारे में सुना होगा। यह आयलैंड दिखने में जितनी खूबसूरत होते हैं, उतने ही यह खतरनाक भी होते हैं। बाहरी व्यक्ति जिन्हें आयलैंड के बारे में जानकारी नहीं होती, वह यहां जीवित नहीं रह सकते। आज हम आपको बताने जा रहे हैं इटली के एक ऐसे ही आयलैंड के बारे में, जिसका नाम प्रोवेग्लिया आयलैंड है, यहां पर पैर रखने से पहले लोग सौ बार सोचते हैं।

असल में इटली का यह एक ऐसा आयलैंड है, जिसे ‘आयलैंड ऑफ डेड’ कहा जाता है। ऐसा कहा जाता है कि यहां जाने वाले लोग कभी बचकर नहीं लौटते। असल में इस आइसलैंड से जुड़ी हुई एक खौफनाक कहानी प्रचलित है। जिसकी वजह से लोग यहां पैर रखने की हिम्मत भी नहीं करते। बताया जाता है कि सैकड़ों साल पहले इस आइसलैंड पर प्लेग के मरीज़ों को लाकर मरने के लिए छोड़ दिया गया था। माना जाता है कि इन्हीं मरे हुए लोगों की आत्मा आज भी यहां भटकती है।

इस आइलैंड पर 1 लाख 60 हज़ार प्लेग से ग्रसित लोगों को अंतिम समय में छोड़ दिया गया था

आपको जानकर हैरानी होगी कि जब इस आइलैंड की खोज हुई, तब यहां की मिट्टी की सच्चाई जानकर लोग हैरान रह गए थे।
इस आयलैंड की 50 प्रतिशत मिट्टी मानव अस्थियों से बनी हुई है। इस आयलैंड पर 1 लाख 60 हज़ार प्लेग से ग्रसित लोगों को अंतिम समय में छोड़ दिया गया था। यहां मरीजों को मौत से पहले टॉर्चर किया जाता था और जो लोग मर जाते थे उन्हें ही दफना दिया जाता था। इन प्लेग के मरीजों की संख्या जब बढ़ गई, तो करीब 1 लाख 60 हज़ार मरीजों को यहां से जिंदा जला दिया गया और इसके बाद आयलैंड पूरी तरह से वीरान हो गया।

कहा जाता है कि इस आयलैंड पर 1992 में एक मेंटल अस्पताल बनाया गया था, लेकिन वहां रह रहे मरीजों को प्लेग से मरे मरीज़ भूत के रूप में दिखाई देते थे। जिसके बाद ही अस्पताल भी बंद कर दिया गया और तब से आयलैंड वीरान ही पड़ा है।
ऐसे आयलैंड पर पैर रखने की हिम्मत करना तो दूर, सरकार ने लोगों को यहां जाने से मना कर दिया है
इस आयलैंड पर इतनी मौतें हो चुकी है कि मछुआरे जब मछली पकड़ने जाते हैं तो उनके जाल में मछली की जगह इंसानी हड्डियां आ जाती है। ऐसे आयलैंड पर पैर रखने की हिम्मत करना तो दूर, सरकार ने लोगों को यहां जाने से मना कर दिया है और इसीलिए इस आयलैंड पर जाना बैन है।