यह है भारत का आखिरी गांव

क्या आपने की है भारत के आखिरी गांव की सैर?

 
chitkul-village-640x480

भारत-तिब्बत सीमा पर बसा छितकुल गांव एक ऐसा गांव है, जिसे भारत का अंतिम गांव कहा जाता है। यह समुद्र तल से करीब 3450 मीटर की ऊंचाई पर हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में स्थित है। यह गांव बास्पा घाटी का अंतिम और ऊंचा गांव है। बास्पा नदी के दाहिने तट पर बसा यह गांव स्थानीय देवी माती के 3 मंदिरों की वजह से जाना जाता है। इस गांव को किन्नौर जिले का क्राउन भी कहा जाता है।

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला से यह करीब 250 किलोमीटर की दूरी पर बसा हुआ है। इस गांव की सुंदरता अद्भुत है और यहां के प्राकृतिक नज़ारे किसी का भी मन मोह सकते हैं। आइए जानते हैं भारत के इस अंतिम गांव के बारे में कुछ खास बातें।

हाटू मंदिर:


घुमावदार पहाड़ी रास्तों से करीब 50 किलोमीटर जाने के बाद शिवालिक पर्वत श्रेणी में 2710 मीटर की ऊंचाई पर बसा है नारकंडा। यह एक लोकप्रिय हिल स्टेशन है। नारकंडा से 5 किलोमीटर दूर 3400 मीटर की ऊंचाई पर हाटू पीक स्थित है। यह लकड़ी से बना हाटू माता का मंदिर है। कहा जाता है कि यह मंदिर रावण की पत्नी मंदोदरी का है।

नारकंडा से रामपुर, सराहन, सांगला यह दुनिया की सबसे खतरनाक सड़कें जाती हैं, जहां ड्राइविंग करना चुनौती माना जाता है। रक्षम पहाड़ की ऊंचाइयों पर बसा एक खूबसूरत गांव है। यह गांव छितकुल से 10 किलोमीटर पहले करीब 3050 मीटर की ऊंचाई पर बसा हुआ है। यहां हरे-भरे घास के मैदान होते हुए भी छोटी-छोटी जल धाराएं निकलती है और आगे चलकर बास्पा नदी में समा जाती है।

जो लोग एडवेंचर यानी ट्रैकिंग का शौक रखते हैं, वह छितकुल से 10 किलोमीटर की लंबी ट्रैकिंग कर सकते हैं। जो लोग इससे ज़्यादा ट्रैकिंग करने की हिम्मत रखते हैं वे रक्षम से 12 किलोमीटर का ट्रैक कर सकते हैं। यहां आपको नदियों का उद्गम स्थल भी दिखाई देगा।

कब जाएं?


छितकुल आने के लिए सही समय अप्रैल से मध्य जून और अगस्त से अक्टूबर तक माना जाता है। याद रहे चाहे चिलचिलाती गर्मी का मौसम क्यों ना हो, आपको गर्म कपड़े हमेशा अपने साथ रखने चाहिए। क्योंकि यहां बारिश भी दिसंबर की कड़कती सर्दी का एहसास देती है।

कैसे पहुंचे?


शिमला से किन्नौर जाने के लिए आपको बस मिल सकती है। यहां का सबसे नजदीकी हवाई अड्डा और रेलवे स्टेशन शिमला में ही है। नेशनल हाईवे से शिमला करीब 10 घंटे का सफर है। यहां आप किराए पर बस या गाड़ी ले सकते हैं। यहां आपको ठहरने और खाने पीने की उचित व्यवस्था वाले अच्छे होटल मिल जाएंगे।

यदि आप भीड़-भाड़ से दूर कहीं एकांत में समय बिताना चाहते हैं, तो आपको हाटू ज़रूर जाना चाहिए।