यदि जा रहे हैं कुंभ, तो इन बातों का रखें ख़याल

कुंभ के दौरान रखें सावधानी

 
credit: festivalsherpa.com

अर्ध कुंभ का आज से आगाज़ हो चुका है और सूरज की पहली किरण के साथ ही लोगों ने संगम में जाकर डुबकी लगाना शुरू कर दिया है। आज प्रातः काल में सबसे पहले श्री पंचायती महानिर्वाणी अखाड़े के महामंडलेशवर और साधू-संतों ने पहला स्नान किया। इसी अखाड़े के साथ थी नागा साधुओं की टोली। इन शाही स्नानों के लिए 35 घाटों को तैयार किया गया है। इस दिन तेरह अखाड़े संगम में स्नान करेंगे, जिन्हे 3 भागों में विभाजित किया गया है। कहा जा रहा है कि आज 15 करोड़ श्रद्धालु संगम में स्नान करेंगे। यदि आप इन्ही श्रद्धालुओं में से एक हैं, तो आपको कुछ बातों का ख़याल रखना चाहिए। यदि आप कुम्भ मेले का हिस्सा हैं या बनने जा रहे हैं, तो आपको कुछ बातों की ओर ध्यान देना चाहिए। आइये जानते हैं क्या!

जानकारी रखें

शाही स्नानों के लिए 35 घाटों को तैयार किया गया है

credit: macleans.ca

कुंभ का हिस्सा बनने से पहले इस बात का ध्यान रखें कि आप कहां रुकेंगे इस बात की जानकारी हासिल कर लें। सुविधा हो तो पहले से ही होटल वगैरह तय कर लें। यदि वहां कोई परिचित व्यक्ति हो, तो मेले के बारे में ज़रूरी जानकारी प्राप्त करें। ध्यान रखें कि कई बार आपको मेले में जाकर लंबी दूरी पैदल ही तय करनी पड़ती है, इसीलिए रुकने की जगह की सही जानकारी आपके लिए बहुत ज़रूरी होगी।

साथ ही आपके साथ लाए गए सामान का अच्छी तरह से ध्यान रखें। यह बात अपने मन में बैठा लें कि केसरिया रंग के कपड़े पहने हर व्यक्ति साधु नहीं होते। इसीलिए उन पर जल्दी भरोसा ना करें। पुलिस द्वारा लगाए गए संकेतों का पालन करें और ज़रूरत पड़ने पर पुलिस की सहायता लेने से ना कतराएं।

ज़रूरी नम्बर आएंगे काम

आज 15 करोड़ श्रद्धालु संगम में स्नान करेंगे

credit: swadesi.com

यदि आप कुंभ का हिस्सा बनने जा रहे हैं, तो वहां दिए गए ज़रूरी नंबरों को अपने पास लिख कर और मोबाइल में फीड करके रखें, ताकि ज़रूरत पड़ने पर आपको तुरंत मदद मिल सके। कुंभ मेले में पुलिस द्वारा अच्छे इंतज़ाम किए जाते हैं, जिसमें पुलिस चौकी, मरीज़ों के लिए अस्पताल और फायर ब्रिगेड जैसी सुविधाएं दी जाती है, इसीलिए इन नंबरों को अपने पास नोट करके रखें।

किसी से पैसों का लेन-देन ना करें

अर्ध कुंभ एक बड़ा सांस्कृतिक कार्यक्रम है

credit: cloudfront.net

जैसा की आप सभी जानते हैं यह अर्ध कुंभ एक बड़ा सांस्कृतिक कार्यक्रम है, जिसमें सभी साथ मिल-जुल कर रहना और घूमना पसंद करते हैं। लेकिन जब तक आप किसी को अच्छी तरह से ना जान लें, तब तक उन पर भरोसा ना करें। खास कर पैसों के मामले में किसी पर भी जल्दी भरोसा ना करें। किसी की दी हुई चीजें या खाना ना लें। साथ ही प्रसाद के नाम पर दी जाने वाली कोई भी वस्तु का प्रयोग ना करें।

स्नान के दौरान रखी जानेवाली सावधानियां

यदि आप स्नान करने जा रहे हैं तो कुछ बातों का ध्यान रखें। कई बार हम स्नान से जुड़े नियमों का पालन नहीं करते, जिसकी वजह से हमें परेशानी मोल लेनी पड़ती है। यहां रोज़ साधु संतों के लिए एक समय तय होता है, जिसके लिए प्रशासन की ओर से निर्देश दिए जाते हैं, उसका पालन करना बेहद ज़रूरी है। क्योंकि ऐसा न करने पर आपके साथ अनहोनी होने का खतरा रहता है और ऐसी किसी अनहोनी की वजह से आपको सुविधा मिलने में तकलीफ हो सकती है। साथ ही स्नान के दौरान ध्यान रखें कि गहरे पानी की और ना जाएं। अक्सर लोग नहाने के दौरान सेल्फी लेना पसंद करते हैं, लेकिन ऐसा करना टालें, क्योंकि इस दौरान आपके साथ कोई गंभीर घटना घट सकती है।

स्वच्छता है ज़रूरी

जिम्मेदार नागरिक बनते हुए साफ सफाई का ध्यान रखें

credit: mmtcdn.com

जैसा की सभी जानते हैं इस कुंभ में करोड़ों लोग इकट्ठा होते हैं। इसीलिए साफ-सफाई का ख्याल ख्याल रखें। प्रशासन द्वारा दी गई सुविधाओं को अपनाते हुए कचरे को यहां वहां ना फेंके। ऐसा करने से गंदगी फैलती है और ज्यादा लोग होने की वजह से कई तरह की बीमारी होने का खतरा रहता है। इसीलिए जिम्मेदार नागरिक बनते हुए साफ सफाई का ध्यान रखें।

यदि आप भी अर्ध कुंभ में संगम में नहा कर ईश कृपा प्राप्त करना चाहते हैं, तो सावधानी रखते हुए इन बातों का ध्यान रखें।