कैसे मुकुल नागपॉल ने फिटनेस को बनाया अपना करियर

सेहत और फिटनेस का तालमेल दे सकता है आपको अच्छे नतीजे, ज़्यादा वक़्त तक

 
deb42c6d-this-is-how-mukul-nagpaul’s-love-for-fitness-shaped-his-career-640x480

ऐसा करने के लिए वो अलग अलग तरीकों का इस्तेमाल करते हैं, जैसे कि कोर और पॉस्चर ट्रेनिंग, मैट वर्क, एक्सरसाइज़ और भी बहुत कुछ। मुकुल ना ही लोगों को फिट रहने में मदद करते हैं बल्कि उन्हें सेहत की ओर ठीक से ध्यान देने में भी मदद करते हैं।

क्या आपको हमेशा से ही फिटनेस और सेहत में दिलचस्पी थी?

मैं नैशनल लेवल बैडमिंटन प्लेयर रह चुका हूं और स्कूल के दिनों से ही दौड़ भाग में बहुत दिलचस्पी थी। स्कूल के आखिर में जब मैं ये समझने की कोशिश कर रहा था कि आखिर मुझे आगे क्या करना है, तब मुझे ये समझ आया कि मुझे दूसरों को उनके सेहत और फिटनेस के बारे में मदद करने में बहुत अच्छा लगता है। तभी मुझे लगा कि मुझे सेहत और फिटनेस की दुनिया में कुछ करना चाहिए।

आजकल हर कोई फिटनेस में दिलचस्पी ले रहा है – क्या ऐसा कोई तरीक़ा है जिससे आप ज़्यादा वक़्त के लिए अपनी फिटनेस को बरकरार रख सकें?

आजकल कई तरह के ट्रेंड मौजूद हैं, जैसे कि बीच बॉडी, इंस्टाग्राम बॉडी आदि। हर कोई फोटो के लिए और दूसरों के लिए अच्छा दिखना चाहता है। यही वजह है कि आजकल ज़्यादा लोग फिटनेस में दिलचस्पी ले रहे हैं। पर ये ज़रूरी है कि आप धैर्य रखें, क्योंकि सही मायनों में फिट होने में वक़्त लगता है, और ऐसा करने से आप लम्बे अर्से तक फिट रह पाएंगे। स्टाइल के लिए फिट बनना तो आता जाता रहता है, पर ये ज़्यादा वक़्त तक टिकता नहीं है।

फिटनेस से जुड़ी आपकी पहली यादें क्या हैं?

मैं वो बच्चा था जो स्कूल खत्म होते के साथ ही प्लेग्राउंड में मिलता था। और साथ ही मैं हर रोज़ अपने दोस्तों और कज़न्स के साथ क्रिकेट खेलता था, चाहे कुछ भी हो जाए और चाहे कितना भी टाइम क्यों ना हो रहा हो।

क्या फिटनेस ट्रेनर बनने के लिए आपने कुछ ख़ास पढ़ाई की है? ऐसे कोई कोर्स हैं जो इसमें मदद कर सकते हैं?

मैं शुरू में इंटरनेट पर फिटनेस से जुड़ी बातों को पड़ता था। उस वक़्त मैंने एक हेल्थ क्लब के साथ इंटर्नशिप भी किया। इसके बाद मैंने पार्ट-टाइम फिटनेस इंस्ट्रक्टर के तौर पर कॉलेज के पहले साल में काम शुरू किया। मुझे और भी सीखना था, इसलिए मैं दिल्ली चला गया और वहां मैंने इंटरनैशनल फिटनेस सर्टिफिकेशन किया। ACE, ACSM, NASM कुछ ऐसे अंतर्राष्ट्रीय सर्टिफिकेट हैं जो आप कर सकते हैं, अगर आप फिटनेस में कोई काम करना चाहते हैं।

क्या अपने शरीर को समझ कर उसके हिसाब से अपना फिटनेस प्लैन बनाना चाहिए? आप अपने क्लाइंटज़ को ऐसा करने की सलाह क्यों देते हैं?

हां, मैं हमेशा ये सलाह देता हूं क्योंकि आपको हमेशा अपने शरीर को समझकर उसके हिसाब से काम करना चाहते चाहिए, नाकि दूसरों को देखकर वैसा करना चाहिए। इसमें काफ़ी फर्क है, जैसे कि दर्ज़ी के पास जाकर अपने नाप का सूट सिलाना, या फिर दूकान से सिला सिलाया सूट खरीद लेना। दुकान वाला सूट शायद आपको कंधे पर ढीला या टाइट लगे, जबकि किसी और के लिए वो सही फिट होगा, पर उसी ओर, अगर आप दर्ज़ी से सूट बनवाते हैं, तो वो बिलकुल आपके हिसाब से होगा। इसी तरह, फिटनेस का ख़ास प्लैन आपको शरीर से उन जगहों से फैट घटाने में मदद करेगा जहां आप चाहते हैं।

आप अपने फिटनेस के लिए क्या करते हैं?

645c3fb3-at-the-moment-mukul-is-training-for-the-ironman-triathlon-500x500
मुकुल फिलहाल आइरन मैन ट्राइएथलॉन (Ironman Triathlon) के लिए प्रशिक्षण ले रहे हैं

मैं Ironman Triathlon के लिए ट्रेन कर रहा हूं और इसलिए अभी मेरा रूटीन तैराकी, भागना, साइक्लिंग, कोर और स्ट्रेंथ ट्रेनिंग पर आधारित है। एक और चीज़ जो मैं हमेशा करता हूं, जिससे मुझे मज़ा भी आता है और फिटनेस के काम भी आता है वो है कि मैं हर रात करीब २५ से ३० कुत्तों को खाना खिलाता हूं, जिसकी वजह से मुझे कम से कम ४००० से ५००० कदम चलने पड़ते हैं।

आप कितने वक़्त से लोगों को फिट रहने में मदद कर रहे हैं?

काम के तौर पर मैं ये १० साल से कर रहा हूं, पर वैसे मैं १५ साल से लोगों को फिटनेस के बारे में मदद कर रहा हूं।

पर्सनल फिटनेस ट्रेनर बनने के कुछ अच्छी और बुरी बातें?

फिटनेस ट्रेनर के तौर पर कई चुनौतियां आती हैं, जैसे कि सुबह सुबह काम करना और देर रात तक भी काम करते रहना। इतनी छुट्टियां भी नहीं होती हैं, तो दोस्तों या परिवार वालों के साथ वक़्त बिताना मुश्किल हो जाता है। सबसे अच्छा तब लगता है जब आप किसी को उनके फिटनेस को पाने में सही से मदद कर सकते हो।

जो पर्सनल ट्रेनर बनना चाहते हैं उन्हें कोई टिप्स?

लोगों की मदद करने के मकसद से इस इंडस्ट्री में आइये, पैसा भी आ ही जाएगा।

आप अपने क्लाइंट्स को अपने साथ कम्फर्टेबल कैसे महसूस कराते हैं?

मैं आसानी से लोगों के हिसाब से खुद को बदल सकता हूं। मसलन के तौर पर, अगर मैं किसी २० साल के स्टूडेंट को ट्रेन कर रहा हूं तो मैं उनकी तरह पेशा आऊंगा। वहीं, अगर मैं किसी ३० साल की महिला को ट्रेन कर रहा हूं तो मैं उनके हिसाब से बात करूंगा।

आपको फिट रहने के लिए कौन प्रेरित करता है?

काफी लोग हैं, अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी, जैसे कि क्रिस गेथिन, ऐश्ली हॉर्नर और भारत में मिलिंद सोमन।

अगर आप को भी फिटनेस पसंद है, तो साथ ही सेहत का भी तालमेल बनाइये, तभी आप लम्बे अर्से तक फिट रह पाएंगे।