इन बातों का ध्यान रख कर आप ऑफ़िस में समय का कर सकते हैं बेहतर उपयोग

टाइम मैनेजमेंट एक आर्ट है, हर कोई इसमें महारत हासिल नहीं कर सकता

 
prepare-for-a-productive-week-with-these-4-simple-hacks-640x480

आपका खुद का व्यवसाय है, आप कहीं एम्पलोयी है या फिर फ्रीलांसर, हर कोई चाहता है कि हाथ में लिया हुआ काम वो समय पर पुरा कर दे। अगर आप भी चाहते है कि आने वाले हफ्ते में आप अपने हाथ में लिए हुए काम यानी अपनी ज़िम्मेदारीयां अच्छे से निभाए तो ज़रुरी है कि आप नया हफ्ता शुरु होने से पहले, उन चीजों की लिस्ट बना ले, जिन्हें पूरा करना आपके लिए बेहद ज़रुरी है। 4 ऐसे तरीके है, जिनको ध्यान में रख कर आप ना सिर्फ अपना काम समय पर पूरा कर सकेंगे, बल्कि खुद से लिए भी समय निकाल सकेंगे।

क्या, कब ,कैसे और क्यों को जान लेना बेहद ज़रुरी हैं

review-the-last-week-500x360
खुद की डायरी मेंटेन करना फ़ायदेमंद साबित हो सकता है

आप आने वाले हफ्ते में किए जाने वाले काम की अगर लिस्ट बना रहे हैं, तो पहले देख लीजिए कि पिछले हफ्ते का सारा काम पूरा हो गया है या नहीं। सबसे पहले उन कामों की भी सूची बनाए जो पिछले हफ्ते के काम थे और आपको इस हफ्ते करने पड़ेंगे। किसी भी तरह की लिस्ट बनाने से पहले अपने SMSes, मेल, प्लानर और सोशल कैलेंडर को एक बार ज़रुर देख लें, ऐसा ना हो कि कोई चीज़ रह जाए।

टू डू लिस्ट ज़रुर बनाए

make-a-to-do-list-500x360
इस लिस्ट में सभी ज़रुरी काम लिख ले

आने वाले हफ्ते के काम और मीटिंग की लिस्ट एक बार जब आपके हाथ में आ जाती हैं, तो उन कामों को और मीटिंग की एक लिस्ट बना ले। अपनी सारी मीटिंग फिक्स करते हुए इस बात का ध्यान ज़रुर रखे कि आप खुद पर काम का ज़्यादा बोझ ना डाल दे। किसी भी दो मीटिंग के बीच में 15 मिनट का बफर टाइम ज़रुर रखें। हो सकता है कि आपकी कोई मीटिंग सिर्फ 12 से 1 बजे तक हो, लेकिन किसी भी कारण से हो सकता है कि यह मीटिंग 1.20 या 1.30 तक खींच जाए। ऐसे में आपकी आगे की मीटिंग प्रभावित हो सकती है। अच्छा होगा कि आप अपने दो कामों के बीच में बफर टाइम ले कर चले। साथ ही अगर आपको किसी मीटिंग के लिए ट्रेवल करना है, तो ट्रेवलिंग में कितना समय लगेगा, इस बात को भी ध्यान में रख कर प्लानिंग करें।

मीटिंग स्केडयूल करने से पहले एक बार फिर कन्फर्म कर लें

co-ordinate-before-scheduling-events-500x360
किसी भी मीटिंग के लिए समय पर पहुंचे

हालांकि दोनों ही पार्टी को इस बात का पता रहा है कि किस दिन, कितने बजे मीटिंग फिक्स की गई हैं। लेकिन कई बार ऐसा होता है कि किसी कारण से कोई भी पार्टी मीटिंग का समय या फिर दिन बदलवाना चाहती हो। इसलिए एक बार फिर से एडवांस में सामने वाले से मीटिंग के बारे में कंफर्म कर लेना बेहतर होगा। पता चला कि आप तो समय पर मीटिंग के लिए पहुंच गए, लेकिन सामने वाला ही ग़ायब है।

थोड़ा खाली समय भी खुद के लिए रखे

schedule-no-work-time-500x360
काम ज़रुरी है, लेकिन उससे ज़्यादा ज़रुरी है खुद का ध्यान रखना

काम के साथ साथ यह भी ज़रुरी है कि आप थोड़ा समय खुद के लिए भी रखे। आपके दोस्त, परिवार के साथ समय बिताना बहुत ज़रुरी है। अपने लिए समय निकालते हुए इस बात का ध्यान रहे कि आप उन चीज़ो को अपने खाली समय में शामिल करे, जिन्हें करके आपको सुकून मिलता है। अगर आपके प्लानर में सिर्फ काम ही काम है, तो इसका मतलब है कि आपने टाइम मैनेजमेंट ढंग से नहीं किया।

अब आप भी इन सब बातों का ध्यान रख कर अपने आने वाले हफ्ते की प्लानिंग एडवांस में कर सारे काम समय पर खत्म कर सकते हैं। एक बार आज़मा कर तो देखे।