आप भी बन सकते हैं वॉइस ओवर आर्टिस्ट “आवाज़ ही पहचान है”

 

कार्टून के दीवाने सिर्फ बच्चे ही नहीं बड़े भी होते हैं, लेकिन जब बात बच्चों की हो तो उनकी दीवानगी कार्टून के प्रति देखते ही बनती है। ‘टॉम एंड जेरी’, ‘छोटा भीम’, ‘मोटू पतलू’, ‘शिनचैन’ से लेकर ‘डोरेमोन ‘ जैसे कई कार्टून हर बच्चे को लुभाते हैं। कई भारतीय कार्टून के साथ साथ कुछ ऐसे जापानी कार्टून सीरिज़ हैं, जिन्हे हिंदी में प्रसारित किया जाता है। क्या आप जानते हैं कि इन कार्टून किरदारों को आवाज़ देने वाले कौन होते हैं और उन्हें क्या कहते हैं? वो कोई और नहीं डबिंग आर्टिस्ट होते हैं, जिनकी आवाज़ इन एनिमेटेड कार्टून कैरेक्टर्स को दी जाती है। अगर आप भी बनना चाहते हैं किसी फेमस कार्टून कैरेक्टर की आवाज़, तो आपको यह लेख ज़रूर पढ़ना चाहिए।

अगर आप की आवाज़ में कुछ खास है और आप में अलग करियर बनाने का जज़्बा है, तो आप की आवाज़ आप को नौकरी, पैसा और शोहरत दिला सकती है। इसके लिए आप को बनना होगा डबिंग आर्टिस्ट। इन्हे वॉइस ओवर आर्टिस्ट भी कहते हैं। इस करियर के ज़रिए आप अच्छी कमाई के साथ साथ मनोरंजन की दुनिया में अपना नाम और खासा मुकाम भी हासिल कर सकते हैं।

कार्टून, गाने और जिंगल्स

अर्जुन कपूर ने हॉलीवुड कार्टून फ़िल्म आइस ऐज के एक किरदार के लिए अपनी आवाज़ दी थी।

कई कार्टून शो जापानी और अंग्रेजी भाषा में होते हैं, लेकिन भारत में इन्हे हिन्दी के अलावा अन्य भाषाओं जैसे तमिल , तेलुगू , पंजाबी ,मलयालम आदि में भी डब कर दिया जाता है। बच्चों के फेमस कार्टून शो ‘छोटा भीम’, ‘एंग्री बर्ड’ और ‘आइस ऐज’ जैसे एनिमेटेड कार्टून शो और फ़िल्मों के लिए डबिंग करने वाली जानी मानी डबिंग आर्टिस्ट परिगना पंड्या शाह का कहना है, “भारत में कार्टून चैनल्स में वॉइस आर्टिस्ट का सबसे ज़्यादा काम पड़ता है। बच्चों का सब से पसंदीदा चैनल है कार्टून चैनल। आजकल कई भारतीय कंपनियां कार्टून बनाती हैं। इन कार्टून कलाकारों में जान डालती हैं, हम डबिंग कलाकारों की आवाज़।”

एनीमेशन के सभी सीरीज़ डब होते हैं। इनको आवाज़ देने वाले बच्चों और किशोरों की आवाज़ में वैरायटी होती है। वे कई बार एक ही सीरियल में कई कार्टून किरदारों को डब कर लेते हैं। परिगना बताती हैं, “हमें किरदार की पर्सनालिटी के हिसाब से अपनी आवाज़ ढालनी पड़ती है। हमें अपनी आवाज़ पर बहुत मेहनत करनी पड़ती है और उसका बहुत ध्यान भी रखना पड़ता है।”

कमाई भी है ज़ोरदार

डबिंग आर्टिस्ट डेली बेस, फ्रीलांसर और कॉन्ट्रैक्ट पर भी काम करते हैं, इसलिए काम का समय और आय की कोई सीमा नहीं है। फिर भी सामान्य तौर पर एक डबिंग आर्टिस्ट प्रतिदिन 5 से 25 हजार तक कमा सकता है। जैसे-जैसे उस का तज़ुर्बा बढ़ेगा, आय भी उसी तरह बढ़ती चली जाएगी। यदि आप कॉन्ट्रैक्ट पर काम करते हैं, तो लगभग 30 हजार रुपए से लाखों रुपए तक प्रतिमाह कमा सकते हैं।

तकनीकी पहलू की जानकारी

विज्ञापन में भी वॉइस आर्टिस्ट की जबरदस्त डिमांड है

डबिंग आर्टिस्ट को कुछ तकनीकी जानकारियों का ज्ञान होना भी ज़रूरी है। जैसे माइक संबंधी जानकारी,अच्छी आवाज़ के साथ-साथ कलाकार को माइक की तकनीक का भी ज्ञान होना चाहिए। माइक को कैसे पकड़ना है, माइक को कितनी दूर या नज़दीक रख कर डबिंग की जाए, यह जानना भी बहुत ज़रूरी है। यह सब प्रशिक्षण संस्थानों में सिखाया जाता है। इसके अलावा डबिंग के 2 तरीके हैं, पहला पैरा डबिंग और दूसरा लिपसिंक।

पैरा डबिंग में आर्टिस्ट को ऑडियो या वीडियो पर ध्यान दिए बिना, अनुमान के मुताबिक डबिंग करनी होती है, जबकि लिपसिंक में किरदार के होंठों को पढ़ कर, उच्चारण को मैच करते हुए डबिंग करनी होती है। इसकी पूरी जानकारी होना बहुत ज़रूरी है।

क्या हो योग्यता

यूं तो डबिंग आर्टिस्ट के लिए अच्छी और स्पष्ट आवाज़ के अलावा किसी खास योग्यता की ज़रूरत नहीं होती, फिर भी भाषा के ज्ञान के साथ साथ देश और दुनिया की जानकारी होना ज़रूरी है। इसके अलावा बोलने की तकनीक, चरित्र के भाव को, उस के मूड को पकड़ कर बोलना, आवाज़ में स्पष्टता के अलावा शुद्ध उच्चारण होना भी ज़रूरी हैं।

कहां से लें प्रशिक्षण

voice-over-production-house
जब भी किसी प्रोडक्शन हाउस या स्टूडियो में काम मांगने जाएं, तो अपने किसी काम का सैंपल ज़रुर ले कर जाएं

बतौर डबिंग आर्टिस्ट करियर बनाने के लिए इन दिनों कई तरह के संस्थानों ने कोर्स शुरू किए हैं। इन संस्थानों में डबिंग आर्टिस्ट का प्रशिक्षण पाने के लिए कम से कम 10वीं पास होना ज़रूरी है। इस में डिग्री या डिप्लोमा तो नहीं, लेकिन सर्टिफ़िकेट इन वॉयस ओवर ऐंड डबिंग जैसे कोर्स बाक़ायदा कराए जा रहे हैं। यह कोर्स मात्र एक महीने से 6 महीने के होते हैं। इसके लिए कई ऐसे संस्थान है, जो 10 से ले कर 25 हजार रुपए की फ़ीस ले कर डबिंग के शॉट टर्म कोर्स करवाते हैं। तो अगर आपको भी लगता है कि आपकी आवाज़ लोगों तक पहुंचनी चाहिये, तो आप भी इस करियर के बारे में सोच सकते हैं।